Type your search keyword, and press enter

Shamsher ALI Siddiquee – शमशेर अली

22 मई 1987 हाशिमपुरा नरसंहार की बात….

22 मई. वो तारीख, जब 1987 के हाशिमपुरा नरसंहार की बात होती है. उस घटना में 42 मुस्लिमों को गोलियों से भून दिया गया था. मरने वालों को मुस्लिम इसलिए कहा जाएगा, क्योंकि उन्हें मुस्लिम होने की वजह से ही मारा गया था. इस मामले में किसी को सजा नहीं हुई.  पता ही नहीं चला कि नदी पर तैर रहे उन जिस्मों में किसने लोहा उतारा था. आज की तारीख में बात हाशिमपुरा की.

Continue reading… “22 मई 1987 हाशिमपुरा नरसंहार की बात….”

वो धमाका जिसने राजीव गांधी को मार डाला

अपनी हत्या से कुछ ही पहले अमरीका के राष्ट्रपति जॉन एफ़ केनेडी ने कहा था कि अगर कोई अमरीका के राष्ट्रपति को मारना चाहता है तो ये कोई बड़ी बात नहीं होगी बशर्ते हत्यारा ये तय कर ले कि मुझे मारने के बदले वो अपना जीवन देने के लिए तैयार है.
“अगर ऐसा हो जाता है तो दुनिया की कोई भी ताक़त मुझे बचा नहीं सकती.”

Continue reading… “वो धमाका जिसने राजीव गांधी को मार डाला”

विश्व थैलेसिमिया दिवस – अस्थि मज़्ज़ा ट्रांसप्लांटेशन ही ईलाज़!

“हँसने-खेलने और मस्ती करने की उम्र में बच्चों को लगातार अस्पतालों के, ब्लड बैंक के चक्कर काटने पड़ें तो सोचिए उनका और उनके परिजनों का क्या हाल होगा! सूखता चेहरा, लगातार बीमार रहना, वजन ना ब़ढ़ना और इसी तरह के कई लक्षण बच्चों में थेलेसीमिया रोग होने पर दिखाई देते हैं। माता-पिता से अनुवांशिकता के तौर पर मिलने वाली इस बीमारी की विडंबना है कि इसके कारणों का पता लगाकर इससे बचा नहीं जा सकता।”

Continue reading… “विश्व थैलेसिमिया दिवस – अस्थि मज़्ज़ा ट्रांसप्लांटेशन ही ईलाज़!”

रमज़ान के बारे में कुछ सवाल जिन्हें पूछते आप बिल्कुल न घबरायें!

रमज़ान का सबसे पहला सवाल तो ये ही होता है कि ये शुरू कब से हो रहा है. क्योंकि रमज़ान की शुरुआत चांद देखने की बाद होती है. रमज़ान मुस्लिम कैलेंडर का नौवां महीना होता है. जो ईद-उल-फ़ित्र से ठीक पहले वाला महीना होता है. ये वही ईद है जिसपर सिवईं बनती हैं. रमजान में मुस्लिम रोज़ा रखते हैं. यानी जब सूरज निकलता है उस वक़्त से लेकर, जब तक सूरज छिपता है उस वक़्त तक कुछ नहीं खाते-पीते.

Continue reading… “रमज़ान के बारे में कुछ सवाल जिन्हें पूछते आप बिल्कुल न घबरायें!”

Shamsher ALI Siddiquee – शमशेर अली सिद्दीकी

मैं इस विश्व के जीवन मंच पर अदना सा किरदार हूँ जो अपनी भूमिका न्यायपूर्वक और मन लगाकर निभाने का प्रयत्न कर रहा है। पढ़ाई लिखाई के हिसाब से विज्ञान के इंफोर्मेशन टेक्नॉलोजी में स्नातक हूँ और पेशे से सॉफ़्टवेयर इंजीनियर हूँ तथा मेरी कंपनी में मेरा पद मुझे लीड सॉफ़्टवेयर इंजीनियर बताता है।